Monday, December 9, 2013

मैं मिजोरम हूँ--एक क्षणिका




मैं मिजोरम हूँ


(मिजोरम और अन्य उत्तर-पूर्वी राज्यों अथवा देश के 
अन्य दूर-दराज़ कस्बों के प्रति राष्ट्रीय विमर्श में बेशर्मी 
भरी उदासीनता से प्रेरित) 


देश में मेरा वज़ूद
दिल्ली के प्याजों से भी कम
हाँ, मैं मिजोरम हूँ
और जब तुम्हे कोई न पूछे
जब तुम्हे बस में जगह न मिले
जब खाये पीए अघाये लोग
हर जगह चबर-चबर करते हुए
तुम्हे धक्का देते हुए
तुम पर कोई भी ध्यान दिए बगैर
सारे सोफे पर खुद पसर जाएँ
तब मन ही मन सोच लेना
आज मैं भी मिजोरम हूँ


-कुमार विक्रम